खास खबरछत्तीसगढ़रायपुर

लाख पालन के लिए किसानों को दिया जा रहा है प्रशिक्षण : भानुप्रतापपुर में 134 किसानों ने सीखी लाख पालन की बारीकियां

कटघोरा में 23 जून तथा अम्बिकापुर में 25 जून से दो दिवसीय लाख पालन का प्रशिक्षण

पूर्व प्रधान वैज्ञानिक जायसवाल द्वारा दिया जा रहा है प्रशिक्षण

छत्तसीगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ द्वारा 26 जून तक लाख पालन हेतु वृत्त स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत 20 से 21 जून तक भानुप्रतापुर में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कटघोरा में 23 से 24 जून तक कुसुमी लाख पालन और 25 से 26 जून तक अम्बिकापुर में रंगीनी लाख पालन के संबंध में लाख पालक कृषकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में भानुप्रतापपुर में 20 जून से आायोजित किए गए प्रशिक्षण कार्यक्रम में गरियाबंद, कोण्डागांव, कांकेर, पूर्व भाुनप्रतापपुर, पश्चिम भानुप्रतापपुर, नारायणपुर, जगदलपुर, बीजापुर तथा सुकमा वन मंडल के लाख पालक कृषक तथा संबंधित स्व-सहायता समूह के सदस्यों ने हिस्सा लिया। इसी तरह प्रशिक्षण स्थल कटघोरा में कोरबा, कटघोरा, धमरजयगढ़, रायगढ़, जशपुर, रामपुर, कवर्धा तथा बिलासपुर और प्रशिक्षण स्थल अम्बिकापुर में कोरिया, मनेन्द्रगढ़, बलरामपुर, सूरजपुर, सरगुजा, मरवाही तथा कटघोरा के लाख पालक कृषक शामिल होंगे। लाख पालन का प्रशिक्षण पूर्व प्रधान वैज्ञानिक (आईसीएआर-आईआईएनआरजी) रांची-झाराखंड ए.के. जायसवाल द्वारा दिया जा रहा है।

जिला यूनियन भानुप्रतापपुर में आयोजित वृत्त स्तरीय लाख पालन प्रशिक्षण कार्यक्रम में जगदलपुर, कांकेर वृत्त एवं खैरागढ़ जिला यूनियन के 134 प्रशिक्षणार्थी ने हिस्सा लिया। जिसमें लाख पालक कृषक, स्वसहायता समूह, इंटर्न, सीनियर, जूनियर एग्जीक्यूटिव शामिल थे। डॉ. ए. के. जायसवाल द्वारा प्रथम सत्र में सैद्धांतिक प्रशिक्षण (पीपीटी द्वारा लेक्चर) एवं द्वितीय सत्र में ग्राम पंडरीपानी में प्रायोगिक प्रशिक्षण जैसे कुसुम वृक्षों की प्रूनिंग, बिहन लाख बांधना, दवाई छिड़काव एवं कृषकों को ऋण प्रदाय इत्यादि के सम्बन्ध में प्रशिक्षण दिया गया! साथ ही पंडरी पानी ग्राम में स्थानीय कृषकों एवम प्रशिक्षणार्थियों से उनके अनुभव सुनने के बाद लाख पालन में उन्हें हो रही समस्याआंे, बाधाओं का निराकरण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button