खास खबरछत्तीसगढ़रायपुर

रायपुर(CG.) 3 फरवरी को ‘राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना’ की शुरूआत : राहुल गांधी भी होंगे शामिल..

हितग्राहियों को पहली किश्त का होगा वितरण

मुख्य सचिव ने वर्चुअल बैठक में की तैयारियों की समीक्षा

साइंस कॉलेज मैदान में होगा आयोजन

पुलिस मेमोरियल छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति स्मारक और महात्मा गांधी की स्मृतियों को संजोने के लिए नवा रायपुर में स्थापित किए जाने वाले ‘सेवाग्राम’ का होगा शिलान्यास

राजीव युवा मितान क्लब योजना का होगा शुभारंभ

थीम आधारित विकास प्रदर्शनी 3 से 5 फरवरी तक होगी आयोजित

मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने राज्य शासन की महत्वकांक्षी राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना और राजीव युवा मितान क्लब योजना के शुभारंभ, पुलिस मेमोरियल छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति स्मारक के शिलान्यास और महात्मा गांधी की स्मृतियों को संजोने के लिए नवा रायपुर में स्थापित किए जाने वाले ‘सेवाग्राम’ के शिलान्यास के कार्यक्रम की तैयारियों की वर्चुअल बैठक में समीक्षा की। यह कार्यक्रम 03 फरवरी को राजधानी रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में लोकसभा सांसद श्री राहुल गांधी के मुख्य आतिथ्य में आयोजित किया जाएगा। तैयारियों के संबंध में आयोजित वर्चुअल बैठक में समस्त संभागायुक्त और कलेक्टर उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा के अनुरूप राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के शुभारंभ के कार्यक्रम में इस योजना के हितग्राहियों के खाते में पहली किश्त के रूप में 2000 रूपए की राशि अंतरित की जाएगी। इस योजना में हितग्राही परिवार को तीन किश्तों में एक वर्ष में 6000 रूपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की स्मृतियों को संजोने के लिए वर्धा के सेवाग्राम आश्रम की तर्ज पर नवा रायपुर में ‘सेवाग्राम’ की स्थापना आधुनिक भारत के तीर्थ के रूप में की जाएगी। ‘सेवाग्राम’ गांधी जी के विचार, चिंतन दर्शन और गांधीवाद के महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में विकसित किया जाएगा। माना रायपुर में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल वाहिनी परिसर में नई दिल्ली इंडिया गेट की तर्ज पर ‘छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति’ की स्थापना की जाएगी।

इस अवसर पर साईंस कॉलेज मैदान में थीम आधारित विकास प्रदर्शनी 03 से 05 फरवरी तक लगाई जाएगी। प्रदर्शनी में गोधन न्याय योजना से जुड़ी विभिन्न आय मूलक गतिविधियों, आजीविका मिशन की गतिविधियों, बस्तर संभाग की विशिष्ट पहचान और उपलब्धियों का जीवंत प्रदर्शन किया जाएगा। तीन से पांच फरवरी तक आयोजित होने वाले इस प्रदर्शनी में महात्मा गांधी की विचारधारा, युवाओं के योगदान, ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर, शहीदों को नमन जैसे विषयों पर संगोष्ठी-परिचर्चा का आयोजन भी किया जाएगा। प्रदर्शनी स्थल पर थीम आधारित डोम लगाए जाएंगे। जिसमें निर्धारित विषय वस्तु का जीवंत प्रदर्शन किया जाएगा।

प्रदर्शनी के लिए गौठान एवं उससे संबंधित गतिविधियों के चयन के लिए कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. कमलप्रीत सिंह और गोधन न्याय योजना के प्रदेश नोडल अधिकारी डॉ. एस. भारतीदासन को, आजीविका मिशन के कार्यों के चयन के लिए प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला, बस्तर थीम के लिए कमिश्नर बस्तर श्याम धावड़े, महात्मा गांधी की विचारधारा, युवाओं का योगदान, ग्रामीण कृषि मजदूर, शहीदों को नमन जैसे विषयों पर संगोष्ठी-परिचर्चा के लिए छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के आयुक्त अयाज तम्बोली को नोडल अधिकारी बनाया गया है। राज्य शासन की तीन वर्ष की उपलब्धियों पर जनसम्पर्क विभाग द्वारा कॉफी टेबल बुक तैयार की जाएगी, जिसका विमोचन कार्यक्रम के दौरान किया जाएगा।

मुख्य सचिव ने की समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, टीकाकरण, जल जीवन मिशन,
स्वच्छ भारत मिशन के कार्यों की समीक्षा

मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने बैठक में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, टीकाकरण, जल जीवन मिशन, स्वच्छ भारत मिशन सहित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने बैठक में कहा कि आकस्मिक बरसात के कारण धान का विक्रय नहीं कर सकने वाले किसानों को फिर से टोकन का वितरण किया जाए और उनके धान की खरीदी की जाए। समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी 7 फरवरी तक की जाएगी। मुख्य सचिव ने कहा कि धान खरीदी प्रक्रिया की समाप्ति के बाद अगले दो दिनों में संबंधित खरीदी केन्द्रों के लिए नियुक्त जोनल अधिकारियों द्वारा प्रक्रिया के पूर्णता का भौतिक सत्यापन किया जाए। इसके साथ ही खरीदी गए धान की सुरक्षा के उपायों की वीडियोग्राफी करायी जाए। उन्होंने कहा कि धान खरीदी की समाप्ति के बाद प्रत्येक खरीदी केन्द्र से धान का उठाव 15 अप्रैल तक पूरा कर लिया जाए।

जैन ने सीमावर्ती जिलों में धान के अवैध परिवहन पर नियंत्रण रखने प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने भारतीय खाद्य निगम में केन्द्रीय पूल में प्रतिदिन 30 हजार मीटरिक टन चावल जमा कराने और सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन दुकानों से दो महीने के खाद्यान्न का वितरण करने के निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने कोविड संक्रमण से बचाव और दिए जाने वाले राहत की समीक्षा करते हुए कोविड मृत्यु के मुआवजा वितरण की जिलेवार जानकारी ली। उन्होंने कहा है कि किसी भी जिले में यदि राहत राशि वितरण के प्रकरण शेष बचे है और उनके लिए बजट की आवश्यकता है तो तत्काल राजस्व विभाग को अवगत कराएं। उन्होंने बताया है कि महतारी दुलार योजना के तहत सभी जिलों को आवश्यक राशि जल्द ही उपलब्ध करा दी जाएगी। जैन ने टीकाकरण के कार्य में तेजी लाने, टीके का पहला डोज ले चुके फ्रंटलाइन वर्कर सहित अन्य लोगों को टीके का दूसरा डोज अनिवार्य रूप से लगाने के लिए प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को अनिवार्य रूप से टीके की दोनों खुराक लगायी जानी चाहिए। जैन ने बलौदाबाजार में निर्मित हुए वायरोलॉजी लैब को सभी जांच सुविधाओं के साथ जल्द से जल्द शुरू करने कहा। जैन ने नगरीय क्षेत्रों में शाम के समय टीकाकरण अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने विशेष रूप से ऐसे क्षेत्रों को चिन्हांकित करके टीकाकरण शिविर लगाने कहा है। जहां टीके के दूसरे डोज लेने वालों की संख्या कम है।

जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा करते हुए जैन ने कहा है कि योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के बसाहटों के प्रत्येक घर, आंगनबाड़ी केन्द्र, स्कूल, आश्रम छात्रावास, अस्पतालों, पंचायत भवनों में पाइप लाइन के माध्यम से पेयजल उपलब्ध कराने के कार्य में और अधिक तेजी लाया जाए। कार्य की पूर्णता की जिम्मेदारी लेने वाले एजेंसियों-ठेकेदारों के द्वारा यदि कार्य में लापरवाही की जा रही है तो उन्हें ब्लैक लिस्ट करते हुए राज्य शासन सहित दूसरे जिलों को भी जानकारी दिया जाना है। इसके साथ ही संबंधितों की संपत्ति को राजसात करने की प्रक्रिया चालू की जाएगी। मुख्य सचिव द्वारा ठोस अपशिष्ट प्रबंधन और पेयजल स्त्रोतों को प्रदूषण से बचाने के लिए कार्ययोजना बनाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने चिटफंड कम्पनियों के खिलाफ प्राप्त आवेदनों को कम्पनी वार संकलित करने और कार्यवाही में तेजी लाने के निर्देश बैठक में दिए गए। जैन ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत व्यक्तिगत शौचालयों के निर्माण अपिशिष्ट प्रबंधन और सामुदायिक स्वच्छता परिसर के निर्माण में तेजी लाने को कहा।

बैठक में अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू और रेणु जी. पिल्ले, सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. कमलप्रीत सिंह, सचिव खाद्य टोपेश्वर वर्मा, सचिव स्वास्थ्य शहला निगार, सचिव वित्त अलरमेल मंगई डी., प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति निगम निरंजन दास, प्रबंध संचालक मार्कफेड किरण कौशल, विशेष सचिव गृह नेहा चम्पावत, डीजी जेल संजय पिल्ले भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button