खास खबरछत्तीसगढ़राजनीतिकरायपुर

रायपुर(CG.)। प्रदेश के किसानों व आदिवासियों का अपमान कर रही है भूपेश सरकार : कोमल हुपेंडी(प्रदेश अध्यक्ष)

अपनो के लिए सरकार का खजाना खाली बताना दुर्भाग्यजनक-अज़ीम खान,प्रदेश मीडिया सहप्रभारी

प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने आज भुपेश सरकार पर छत्तीसगढ़ वासियों के अपमान का आरोप लगाते हुए कहा कि विगत 2018 व 2019 में छत्तीसगढ़ के किसानों के आत्महत्या के आंकड़े हम देखे तो लगभग 500 किसानों ने आत्महत्या कर ली है वही एड्समेटा व सरकेगुड़ा की बात करे तो निर्दोष आदिवासियों पर गोली चलाई गई थी व निर्दोष आदिवासी मारे गए थे जो न्यायालय ने भी साफ कर दिया है परन्तु इन सभी घटनाओं पर मुआवजा आजतक किसी को नही मिला न किसानों को कुछ दिया गया और न ही उन निर्दोष आदिवासियों को कुछ मिला।

छत्तीसगढ़ में किसानों की आत्महत्या पर मुआवजा न मिलने पर सदन में जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से विपक्षियों द्वारा सवाल किया गया था तो उन्होंने जवाब में कहा था कि आपने अपने 15 साल में कितनो को मुआवजा दिया ,इस तरह के जवाब से ये साबित होता है कि चाहे वो कांग्रेस हो या भाजपा इन्हें न किसानों से और न ही छेत्र के आदिवासियों से कोई सरोकार है उन्हें सिर्फ और सिर्फ सत्ता से मतलब है और ये बात भूपेश बघेल ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में जाकर वहां की घटना के दौरान मारे गए प्रत्येक मृतक किसानों को 50-50 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा कर साबित कर दिया,क्योंकि उत्तर प्रदेश में चुनाव है । यह छत्तीसगढ़ के उन किसानों का अपमान है जिन्होंने आत्महत्या कर ली ये उन आदिवासियों का अपमान है जो एड्समेटा व सरकेगुड़ा में मारे गए आम आदमी पार्टी इस तरह का प्रदेश वासियों का अपमान नही सहेगी, आम आदमी ये मांग करती है कि प्रदेश के प्रत्येक मृतक किसानों व आदिवासियों के परिवार को 1-1 करोड़ रुपये सहायता राशि तत्काल देने की घोषणा करें भूपेश सरकार अन्यथा हमे इन किसानों व आदिवासियों के साथ सड़क पर आना पड़ेगा इनके हक़ दिलाने के लिए ।

अज़ीम खान ने कहा कि आम आदमी पार्टी लखीमपुर में किये 50-50 लाख सहायता राशि दिए जाने का विरोध नही करती है परंतु अपना घर भी तो ठीक कर ले छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार यदि भूपेश बघेल व उनके साथ लखीमपुर पहुचे उन तमाम कांग्रेस के नेता जिसमे राहुल गांधी भी मौजूद थे यदि उन सहायता राशि जिसकी भूपेश बघेल व पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी ने घोषणा की उसे कांग्रेस अपने पार्टी फंड से देती तो ये बेहद खुशी की बात होती और हम इसका सम्मान करते ।

उन्होंने बताया नई भर्तियों पर 2019 से रोक लगा रखी है और कारण बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में वित्तीय संकट है व पैसा नही है साथ ही कई बार कर्ज लिया जा चुका है छत्तीसगढ़ को चलाने की खातिर, ऐसे में भूपेश बघेल जी का उत्तर प्रदेश जाना व अपनी पार्टी के प्रचार के लिए छत्तीसगढ़ के खजाने से प्रत्येक मृतक को 50-50 लाख सहायता राशि देने की घोषणा करना उन बेरोजगारों का अपमान है जो सरकारी भर्ती कब चालू होगी इसका इन्तेजार कर रहे है । छत्तीसगढ़ की जनता सब देख रही है और अब आनेवाले समय पर जब ये जनता के बीच जाएंगे तो उनसे ये सवाल जरूर किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button