खास खबरछत्तीसगढ़रायपुर

रायपुर(CG.)। बारदाने की उपलब्धता राज्य सरकार की जिम्मेदारी, किसानों पर न थोपें बारदाने का भार : कोमल हुपेंडी(आप पार्टी प्रदेशाध्यक्ष)

प्रदेश में किसान पहले सूखा उसके बाद फिर अचानक से नवंबर के महिने में बेमौसम बारिश से त्रस्त हैं वही भूपेश बघेल सरकार किसानों के धान को कैसे कम से कम खरीदा जाए इसके लिए नए नए तकनीक अपनाने में लगी है। जिन किसानों को वोट से भूपेश बघेल की कांग्रेसी सरकार बनी है उसी किसान को अब भूपेश बघेल सरकार के मंत्री, सरकारी कर्मचारी तरह तरह के नए नियम बनाकर उन्हें सताने में लगी है।

किसानों को कहा जा रहा है कि वे खुद से 25 प्रतिशत से अधिक तक का बारदाना लाए और साठ रूपये की बारदाने को 25 रूपये मात्र भुगतान करने की बात कह रही है। किसानों के साथ किसी भी किस्म की छल या चालाकी को आम आदमी पार्टी बर्दास्त नहीं करेगी।

आप पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा कि आप के कार्यकर्ता लगातार खरीदी केंद्रों का दौरा कर रहें हैं और किसानों के साथ हो रहे भेदभाव से वे काफी नाराज है। आप हमेसा से किसानों के साथ रही है, और उनके मुद्दों और समस्याओं के हल के लिए किसी भी सरकार या पार्टी से लड़ने के लिए तैयार है।

कोमल हुपेंडी ने कहा कि किसानों के साथ बारदाने के नाम पर धोखा और अत्याचार करने से पहले, बारदाने की कमी का रोना रोने वाली सरकार को पहले घटिया बारदाने की खऱीद कर घोर भ्रष्टाचार में लिप्त अपने भ्रष्ट अधिकारियों, नेता व व्यापारी पर कार्यावाही करनी चाहिए है। एक भ्रष्ट व्यापारी जिसे पर घटिया बारदाना आपूर्ति करने के लिए 25 लाख का जुर्माना हुआ था उसका भी भुगतान इस सरकार ने कर दिया। कोमल हुपेंडी ने कहा सरकार को इस पर अधिकारिक रूप से स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

कोमल हुपेंडी ने कहा बजाए करोड़ के करोड़ टीवी में विज्ञापन देकर अपना नाम चमकाने से बेहतर अगर उन पैसों का बघेल सरकार को चाहिए की किसानों के लिए गुणवत्ता युक्त बारदाने की खऱीदी करे और किसानों को मुह्हैया करे। धान खरीदी केंद्रों पर अनिश्चितता की स्थिति को खत्म करे। महज छोटे मोदी के तरह भाषणबाजी करने के माननीय मुख्यमंत्री को चाहिए जनता के दुःखों पर मरहम लगाए। यूपी के किसानों की चिता से पहले छत्तीसगढ़ के किसानों पर ध्यान दें नहीं तो आप को सरकार को घेरने में समय नहीं लगेगा।

कोमल हुपेंडी ने कहा की भूपेश सरकार पहले समर्थन मूल्य पर 105 लाख मीट्रिक टन रिकार्ड धान उपार्जन की बात कर रही है वहीं दूसरी ओर किसानों को खुद से बारदाने लेकर आने के लिए मजबूर कर रही है ऐसा इस प्रदेश में नहीं चलने दिया जाएगा। आप चाहती है किसानों को राज्य सरकार पर्याप्त संख्या में बारदाना उपलब्ध कराए।

प्रदेश के अन्नदाताओं के साथ हो रहे इस धोखा से किसान और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता काफी क्षुब्द हैं।

कोमल हुपेंडी ने कहा स्थिति तो यह है कि जिन किसानों ने गत वर्ष बारदाना धान खरीदी के लिए दिया था उसका भुगतान आज तक लंबित है, उन्हें तुरंत करे।
धान खरीदी केंद्र पर जो अव्यवस्था हुई जिसके कारण 17 महिलाएं घायल हो गई, उसपर सरकार को माफी मांगनी चाहिए।
कोमल हुपेंडी ने मुख्यमंत्री से मांग किया कि एक एकड़ में छत्तीसगढ़ का किसान 15 क्विंटल धान से अधिक पैदावार करता है। उसकी भी सरकार खरीदी करें।

कोमल हुपेंडी ने एक बार फिर से राज्य सरकार से धान खरीदी केंद्रों पर पर्याप्त बारदाना उपलब्ध करानी की मांग की और अव्यवस्था दूर करने की मांग की। ऐसा नहीं करने पर या धान खरीदी रुकने कोमल हुपेंडी ने सरकार को चेताया कि आप के कार्यकर्ता इस सरकार की ईंट से ईंट बजा देगी।

जिलाध्यक्षों ने कहा कि बारदाने और खरीदी केंद्रो पर टोकन की समस्या है, और अन्य अव्यवस्थाओं को दूर करें नहीं तो आपके कार्यकर्ता किसानों के साथ मिलकर संबंधित अधिकारी एवं नेताओं का घेराव करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button